World Wide Web के 30 साल पूरे होने पर गूगल ने समर्पित किया खास डूडल

world wide web vs internet, world wide web inventor, world wide web history, tim berners lee

सर्च इंजन गूगल के साथ साथ अधिकतम वेबसाइट्स का वजूद इंटरनेट की वजह से ही है. WWW (World Wide Web) यानी वर्ल्डवाइड वेब की 30वीं सालगिरह पर गूगल ने अपना खास डूडल समर्पित किया है. वैश्विक स्तर पर सूचनाओं का खजाना हासिल करने की तकनीक के प्रतीक के रूप में इस डूडल को समर्पित किया गया है. इसकी खोज करने का श्रेय वैज्ञानिक टिम बर्नर ली को दिया जाता है। गूगल ने इस डूडल के साथ टिम के योगदान को भी याद किया है. (world wide web vs internet, world wide web inventor, world wide web history, tim berners lee)

किसी भी वेबसाइट के यूआरएल में शामिल www उसमें प्रदर्शित होने वाले अलग-अलग रीसोर्सेज और डॉक्यूमेंट्स का ग्रुप होता है, जो आपस में जुड़कर वेबसाइट प्रदर्शित करता है. वर्ल्ड वाइड वेब आम तौर पर वेब के नाम से जाना जाता है, यह आपस में परस्पर जुड़े हाइपरटेक्स्ट दस्तावेजों को इंटरनेट द्वारा प्राप्त करने की तकनीक है. इस तकनीक के लिए हम वेब ब्राउजर की सहायता से उन वेब पन्नों को देख सकते हैं जिनमें टेक्स्ट, फोटो, वीडियो एवं अन्य मल्टीमीडिया सामग्री शामिल होती है. पेजों के बीच जुड़ाव हाइपरलिंक की वजहों से होता है.

Akash Ambani Wedding: पार्टी में ऐसा क्या हुआ, जब आराध्या ने ऐश्वर्या और अभिषेक को कहा- ‘बस करो’, देखें वीडियो

दुनिया को इंटरनेट का तोहफा देने वाले टिम बर्नर ली ने 1980ई में ही इस दिशा में कदम बढ़ाया था. 1984ई में उन्हें सर्न लैब में एक फेलो के तौर पर काम करने का मौका मिला. इस लैब में भिन्न प्रकार के ढेरों कंप्यूटर्स थे, जिनमें अलग-अलग फॉरमैट में डेटा स्टोर किया जाता था. एक से दूसरे कम्प्यूटर तक इस डेटा को सही तरीके से पहुंचाने का जिम्मा टिम का था. उनके दिमाग में यहीं पर एक सवाल ने उत्पन्न लिया कि क्या कोई ऐसा तरीका हो सकता है, जिससे सभी सूचनाओं और डेटा को एकसाथ पिरोया जा सकता है? जिसका हल उन्हेंने वर्ल्ड वाइड वेब के रूप में निकाला.

टिम बर्नर ली ने सन 1989 ‘www’ का ईजाद किया. उस समय वे जिनेवा के यूरोपीय नाभिकीय अनुसंधान संगठन में काम कर रहे थे. सन 1992ई में इसे जारी किया गया और अगले साल 1993ई में पूरी दुनिया को इसका ऐक्सेस मिल गया. उसके बाद वेब के स्तरों के विकास में बर्नर ली ने सक्रिय भूमिका अदा की. उन्होंने सीमेंटिक वेब (Semantic Web) विकसित करने की बात हाल के वर्षों में ही कही है.

Khatron ke khiladi season 9: एक बार फिर से अक्षय कुमार रोहित शेट्टी के स्टंट शो में आग से खेलते नजर आएंगे

टिम बर्नर ली ने इंग्लैंड में जन्म लिया और शुरुआती पढ़ाई के बाद से ही उनका जुड़ाव इस दिशा में हुआ। 1976 में उन्होंने क्वींस कॉलेज और ऑक्सफर्ड यूनिवर्सिटी में पढ़ाई कर फिजिक्स की डिग्री हासिल की। उन्हें गणित की भी अच्छी जानकारी थी साथ ही हमेशा माता-पिता का समर्थन भी पाया. (world wide web vs internet, world wide web inventor, world wide web history, tim berners lee)