ज्यादा देर तक जगने से हृदय रोग, मधुमेह का बड़ा जोखिम: अध्ययन रिपोर्ट

Diabetes mellitus, Cardiovascular disease, Night owl

यदि आप रात में देर से सोते(Night owl) हैं और जल्दी उठने में परेशानी हो रही हैं तो हाल के एक अध्ययन के मुताबिक जल्दी जगने वाले की तुलना में आप दिल की बीमारी(Diabetes mellitus, Cardiovascular disease) और टाइप -2 मधुमेह से पीड़ित होने के उच्च स्तर पर हैं।

अध्ययन में इस बात का विश्लेषण किया कि जल्दी जगने वाले या रात के उल्लू(देर से सोने वाले) में से किसका स्वास्थ्य ज्यादा प्रभावित होता है? शोधकर्ताओं ने बढ़ते वजन वाले साक्ष्य के आधार पर कहा कि शाम(देर से सोने वाले) की  प्राथमिकता वाले लोगों में बीमारे का ज्यादा खतरा है, क्योंकि उनके पास अधिक अनियमित भोजन पैटर्न है, जिसमेंअधिक अस्वास्थ्यकर खाद्य पदार्थों का उपभोग होता है।

मानव शरीर 24 घंटे के चक्र पर चलता है जो हमारी आंतरिक घड़ी द्वारा नियंत्रित होता है, जिसे circadian rhythm या chronotype  के रूप में जाना जाता है। यह आंतरिक घड़ी कई शारीरिक कार्यों को नियंत्रित करती है, जैसे कि आपको खाने, सोने और जागने के बारे में बताना। एक व्यक्ति का क्रोनोटाइप लोगों को जल्दी उठने या देर से बिस्तर पर जाने की ओर निर्देशित करता है। शोधकर्ताओं ने साक्ष्य के आधार पर शाम के क्रोनोटाइप वाले लोगों के लिए दिल की बीमारी और टाइप 2 मधुमेह जैसी स्थितियों के लिए अनुकूल  पाया।

जो लोग शाम में बिस्तर पर देर से जाते हैं वे अस्वास्थ्यकर आहार, फास्ट फूड, अधिक शराब, शर्करा, कैफीनयुक्त पेय आदि चीजें जल्दी जगने वाले की तुलना में ज्यादा उपभोग करते हैं। उनके आहार में कम अनाज, राई और सब्जियां होती हैं। वे सुबह की वरीयता वाले लोगों जो प्रति दिन थोड़ा अधिक फल और सब्जियां खाते हैं की तुलना में कैफीनयुक्त पेय पदार्थ, चीनी और स्नैक्स की खपत ज्यादा करते हैं।  यह संभावित रूप से बताता है कि क्यों शाम की प्राथमिकता वाले लोग पुरानी बीमारी से पीड़ित होने के उच्च जोखिम पर है।

दिन में देर से खाने से टाइप 2 मधुमेह के बढ़ते जोखिम से भी जुड़ा हुआ पाया गया क्योंकि circadian rhythm शरीर में ग्लूकोज को चयापचय की क्रिया प्रभावित होती है। ग्लूकोज के स्तर में पूरे दिन स्वाभाविक रूप से गिरावट आती हैं और रात में अपने सबसे निचले बिंदु तक पहुंच जाता  हैं। हालांकि, देर रात जगने वाले अक्सर बिस्तर  पर जाने से पहले ही खाते हैं और जब वे सोते हैं तो उनमें  ग्लूकोज के स्तर में वृद्धि होती है। यह नकारात्मक रूप से चयापचय को प्रभावित कर सकता है क्योंकि उनका शरीर अपनी सामान्य जैविक प्रक्रिया का पालन नहीं कर रहा होता है।

कड़वा स्वाद बेहतर : क्यों कॉफी का विशिष्ट स्वाद लोगों को पसंद आता है?

शोधकर्ताओं को यह सबूत भी मिला कि शाम की प्राथमिकता वाले  कामकाजी लोग सप्ताह के दौरान ‘नींद का कर्ज’ जमा करते हैं  और सप्ताहांत में लंबे समय तक सोते हैं। जबकि सुबह की प्राथमिकता वाले कामकाजी लोग सप्ताहांत के दौरान नींद का अंतर कम होता है।